Canonical Tag क्या है?

Canonical Tag

Canonical Tags SEO के मामले में बहुत ही ज्यादा Important Role Play करता है। इसको आप अपने Website में कैसे Add करेंगे और कैसे Check करेंगे की यह आपके Website में है या नहीं सभी कुछ आपको इस Post में आज हम बताएंगे और साथ मे यह भी बतयंगे की Canonical Tag आखिर है क्या और इसके क्या फायदे है। कृपया आप इस Article को पूरा पढ़े।

Canonical Tag Kya Hai?

Canonical Tag एक Technical SEO का Part होता है। इस को समझने के लिए आपको इस चीज़ को समझना होगा। मैं आपको अपने Website के URL द्वारा आपको यह बात समझने की कोशिश करता हूँ।

divineseo.com

DivineSEO – Anime | Manga | Webtoons

www.divineseo.com

यह है मेरे Website का url अगर आप इन तीनों को Google पर Type करेंगे तो मेरा DivineSEO वाली Website ही open होगी। User के लिए यह तीनों एक ही Website होती है क्योंकि चाहे वो इन तीनों में से किसी भी url पर click करें उन्हें पता है की वो उन्हें उस Website पर ही ले के जाएगी। पर जब बात आती है Google की तो हम सभी जानते है की Google कोई Human नहीं है वो एक Bot है जिसके द्वारा आपका Website Crawl किया जाता है।

ऐसे Situation में Google के Bots इन तीनों Url को अलग – अलग Website मानती है जिसकी वजह से आपके Original Content Google को Copyrighted लगने लगता है क्योंकि उन तीनो sites पर एक ही Content है जिसके कारण आपकी posts कभी Google पर रैंक नहीं हो पाती। इन Problems से बचने के लिए आपको Canonical Tag का use करना चाहिए ताकि आप google के Bots को यह बात बता सकते की उसे किस Url को Crawl करना है। यहाँ पर एक बात आपको और भी जाननी चाहिए की जो भी url आप अपने Canonical Tag के अंदर करेंगे वो आपका Actual Home Page का Url बन जायेगा।

Canonical Tag कैसे Use करें

अब आपके मन मे यह बात आ रही होगी की आप इस Tag का Use कैसे और कहाँ कर सकते हो, तो चलिए अब हम इस बात कर चर्चा करते है। Canonical Tag का use अपने Theme के Coding Section में जा के करे सकते है। लेकिन काफी बार यह आपके Theme या Templates में Present ही रहता है। लेकिन अगर आप वहाँ जा कर आप अपने website के url को Change भी कर सकते हो जैसे मैंने 3 different url का ऊपर example दिया जो ली Same Website ही Open कर रहे थे। 

Canonical Tag In WordPress

Canonical Tags क्या है?
<link ref="canonical" href="https://divineseo.com"/>

Canonical Tag In Blogger

Canonical Tags क्या है?
<link href='https://www.toonclub.in/' rel='canonical'/>

Relation Of Canonical Tag With Search Console

जैसा की आप सभी जानते है की अगर search console न होता तो हम कभी भी अपने Posts को गूगल में index नहीं करवा पाते। Canonical Tag और Search Console में एक चीज़ Common होनी ही चाहिए वो है आपके Website का url, जैसे की मैंने DivineSEO का Search Console का Account बनाते वक्त “https://divineseo.com Use किया था और अपने Canonical Tag में भी यही use किया था। दोनों का Same होना जरूरी नहीं तो आपकी Post को Google पर indexing करने में काफी मुश्किल आ सकती है।

Canonical Tags के Benefits

 इसकी मदद से आप Duplicate Content की Problem से बच सकते हो।

इसकी मदद से आप Google को बताते हो की आपके Duplicate web pages कौन से है और matter web page कौन सा है जिसे उसे Crawl करना है।

Canonical Tag एक HTML Code होता है जिसे हम अपने Website के Head Session में पाते है।

अगर आपके Theme में यह नहीं है तो अभी इसे use करे नही तो आपके web pages कभी भी rank नहीं हो पाएंगे।

यह एक Technical SEO का part है जो की हर एक website के लिए जरूरी है।

अंतिम शब्द

Technical SEO में Canonical SEO का बहुत ही ज्यादा महत्व है अगर आप एक Website को चलाते है तो आपको इसके बारे में जानकारी होने ही चाहिए। मैं आशा करता हूं आपको मेरा यह पोस्ट अच्छा लगा होगा। आप चाहे तो नीचे Comment कर के हमें अपना Point of view बता सकते है। अगर आप और भी Posts पढ़ना चाहते है तो हमारे Homepage को Visit करें।

Suraj Jha

Hello Friends, मेरा नाम Suraj Jha है और मैं "Divineseo" का Founder हूँ , मैं पिछले २ सालो से SEO, Affiliate Marketing, Email Marketing, PPC Advertising जैसे Fields के बारे में study कर रहा हूँ इस वेबसाइट पर मैंने अपने expriences को शेयर किया है.

Recommended Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *