BDE Ka Full Form In Hindi [Update 2022]

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम बात करने वाले है BDE kya hai और BDE ka full form क्या है और इससे जुडी अन्य जानकारी को भी हम आपके साथ साझा करेंगे ताकी आपको इस विषय के बारे में ज्यादा ज्ञान हो जाये।

Table of Contents

BDE Ka Full Form जिसके बारे में हम अभी बात करने वाले है वो टेक्निकल और प्रोग्रामिंग क्षेत्र से ताल्लुकात रखता है यदि आप भी इन्ही फील्ड में है तो कृपया इस पोस्ट अंत तक पढ़े।

Full Form In Hindi x
Full Form In Hindi

BDE Ka Full Form

BDE ka full form बोरलैंड डेटाबेस इंजन (Borland Database Engine) होता है। बीडीई विंडो ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित डेटाबेस इंजन (database engine) है इसे हम Visual dBASE, Paradox, IntraBuilder, Borland Delphi और C++Builder जैसे एप्लीकेशन को विंडो में उपयोग में लाने का काम भी कर सकते है।

यही कारण है की हम इन्हे डेटाबेस इंजन के साथ साथ कनेक्टिविटी सॉफ्टवेयर (connectivity software) भी कह सकते है क्योकि ये विंडो और इन एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बीच सम्बन्ध स्थापित करता है।

इस सॉफ्टवेयर के डेटाबेस ड्राइवर की मदद से आप एक वकत में कई सारे स्टैण्डर्ड डाटा सोर्सेज (Standard Data Sources) को एक्सेस कर सकते है। अगर हम इसके डिज़ाइन की बात करे तो यह ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड (Object – Oriented) की तरह ही दिखता है।

अगर आप कई सारे डाटा सोर्सेज को BDE में कनेक्ट करना चाहते है तो वो भी बहुत आसानी से संभव हो सकता है, आप BDE Low Level API के साथ इस कार्य को संभव बना सकते है।

BDE आपको एक और कमाल का फीचर देता जिसमे हम अभी खुद के डाटा या क्वेरी को टेबल के फॉर्म में दिख़ा सकते है।

BDE कैसे काम करता है?

अभी तक हमने बीडीई से जुडी जानकारी प्राप्त की है लेकिन ये भी चर्चा का विषय है की आखिर ये काम कैसे करता है। असल में बोरलैंड डेटाबेस इंजन स्टैण्डर्ड डेटाबेस ड्राइवर्स (standard database drivers) और ओपन डाटा कनेक्टिविटी (OBDC) दोनों के साथ काम करता है।

इसके अलावा आप API (Application Programming Interfaces) की मदद से भी काफी सारे स्टैण्डर्ड डाटा सोर्सेज को कनेक्ट करके काम ला सकते है यह इस प्रकार है Paradox, Access, dBASE, FoxPro और text databases.

अगर आप एक BDE के यूजर हो तो आपके Borland’s SQL की सुविधा भी मिलती है जिसकी मदद से आप कई सारे डेटाबेस मैनेजमेंट के साथ इंटरेक्ट कर सकते है।

अगर आप एडमिनिस्ट्रेशन से सम्बंधित कॉन्फ़िगरेशन करना चाहते है तो इसके लिए भी BDE आपको BDEADMIN.EXE के नाम से एक फाइल देता है जिसके द्वारा ये सारी चीज़े संभव हो पाती है। यहां पर आप स्टैण्डर्ड डेटाबेस के साथ ही लोकल स्क्वैल सर्वर का उपयोग भी कर पाते है।

तो दोस्तों यह थे BDE से जुड़े कुछ जरूरी बातें हमने BDE ka full form के था ही आपके साथ अन्य वो साड़ी जानकारियाँ साझा की जो की आपके जीवन में कभी काम आ सकते है। मै आशा करता हूँ की आपको मेरा ये पोस्ट अच्छा लगा होगा।

इसे भी पढ़े:-

Leave a Comment